आंवले क गुण और लाभ ( health is wealth)

आंवला के गुण और चमत्कारिक लाभ:- HEALTH IS WEALTH  स्वास्थ्य ही सबसे बड़ा धन है।
☆ आंवले में जितने रोग प्रतिरोधक , रक्तशोधक और बल वीर्यवर्धक तत्व है ,उतने संसार की किसी वस्तु या औषधि में नहीं है। इसलिए स्वास्थ्य सुख चाहने वालों को अपने आहार में आंवले को प्रमुख स्थान देना चाहिए। लगभग 20 ग्राम चमनप्राश एक गिलास दूध के साथ नियमित सेवन करने से आप इसके चमत्कारिक लाभ प्राप्त कर सकते हो और इस फल के गुुणो से परिचित हो जाएंगे। यह तुरंत एनर्जी प्रदान करने वाला सर्वश्रेष्ठ फल है। आंवला मौसम में नित्य प्रातः  भ्रमण करने के बाद दो पके हुए पुुुुष्ट हरे आवले को चबाकर खाएं  और यदि इस प्रकार कच्चा आंवला ना खा सकें तो उस का रस और शहद मिलाकर पिए। आवलो का मौसम ना रहे तब सूखे आंवले  को पीसकर कपड़े से छानकर बनाया गया आंवला का चूर्ण 3 ग्राम सोते समय रात को शहद में मिलाकर या पानी के साथ ले लें। इसको तीन चार महीनों तक प्रतिदिन आंवले का प्रयोग करने से मनुष्य अपने कायापलट कर सकता है । प्रतिदिन सेवन करने से भूख और पाचन शक्ति बढ़ जाती है, गहरी नींद आने लगती है ,सिर दर्द दूर हो जाता है ,मानसिक और मर्दाना शक्ति बढ़ जाती है, दांत मजबूत हो जाते हैं, बाल काले व चमकदार हो जाते हैं, कांति, ओज ,तेज की वृद्धि होती है और मनुष्य बुढ़ापे तक जवान रह सकता है। आंवले में रोग प्रतिरोधक गुण होने के कारण वह खुद ही रोगों से बचाव करता है, और मनुष्य सदैव निरोग रहकर लंबी आयु प्राप्त करता है।

व्यक्ति युवा जैसा हो जाता है, स्वास्थ्य रक्षक है। आंवले के मुरब्बे का नियमित रूप से सेवन करने से करने से खून शुद्ध होता है, और कोई बीमारी नहीं रहती। यह वात को हरता है और लिवर को ठीक रखता है, तथा इंद्रियों की शक्ति को बढ़ाता है। आंवले की चटनी नमक के साथ पीसकर खाने से कब्ज, जलन तथा शरीर की गर्मी शांत होती है। आंवले की चटनी मिश्री तथा काला नमक मिलाकर सेवन करने से याददाश्त तेज होती है। और सिर और शरीर निरोग रहता है। यदि आप चाहते हैं कि आप के बाल काले बने रहे तो इसके लिए रात में सूखे आंवले लेकर उसे थोड़े पानी में भिगो दें उसके बाद सुबह आवलो को निकालकर उस पानी से सिर को धोएं । इससे बाल तो हमेशा के लिए काले रहेंगे साथ में जुकाम भी नहीं होगा। सुंदर दिखने के लिए सूखे आंवले को पानी के साथ पीसकर शरीर पर लेप स्नान करने से शरीर में झुर्रियां नहीं पड़ती। सूखे आंवले और तिल को पीसकर मालिश करने के बाद स्नान करने से शरीर की कांति बढ़ती है। त्वचा के रोगों में आंवले का प्रयोग बहुत बड़ा लाभदायक है। इसके चूर्ण को तेल के साथ मिलाकर लगाने से खुजली से हमेशा के लिए छुटकारा मिल जाता है। सूखा आंवला बाजार में पंसारी की दुकान से बहुत आसानी से मिल जाता है, और जब इसका मौसम होता है तब भी बाजार  में बहुत ज्यादा आता है।  इसमें विटामिन सी होने की वजह से यह हमारी त्वचा के लिए बहुत ही गुणकारी हैं क्योंकि हमारी त्वचा में चमक बनाए रखने के लिए विटामिन सी लेना बहुत जरूरी है, क्योंकि विटामिन सी हमारे शरीर में स्टोर नहीं होता वह हर रोज लेना पड़ता है। जो हमें सिर्फ खट्टे पदार्थों से ही प्राप्त होता है और आंवले में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है। आंवला बहुत ही गुणों वाला एक ऐसा फल है जो आसानी से हमें मिल जाता है। इसलिए अगर आप भी अपने सेहत को ठीक रखना चाहते हैं तो आंवले का प्रयोग जरूर करें। क्योंकि स्वास्थ्य ही सबसे बड़ा धन है, स्वास्थ्य से बड़ा दुनिया में कोई और धन नहीं है। अगर आपको मेरा यह टॉपिक अच्छा लगे तो प्लीज अपने चाहने वाले और दोस्तों को और अपने सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें थैंक 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ