जुकाम को कैसे ठीक करें | जुकाम के लिए घरेलू उपाय | सर्दी, खांसी जुकाम को कैसे ठीक करें |

जुकाम को कैसे ठीक करें- जुकाम एक तरह से सामान्य बिमारी है जिसे हम नजला भी कहते हैं।  यह वायरस के संक्रमण के कारण ऊपरी स्वानसन तंत्र के शोध से होता है। यह सभी बीमारियों में  से अधिक सामान्य है।  हर व्यक्ति को साल में दो से तीन बार से ग्रस्त होता ही है जुखाम को ठीक होने के लिए 8 से 10 दिन तक लेता है। पहले तीन से चार दिनों तक वयक्ति  इस स्थिति में बुरी तरह बहाल महसूस करता है। सर्दियां शुरू हो चुकी हैं और सबसे पहले लोग इस समस्या की चपेट  में आ जाते हैं क्योंकि मौसम बदलते ही हम इस संक्रमण के शिकार हो जाते हैं।

आज इस लेख के माध्यम से कुछ ऐसे घरेलू उपाय बताएंगे जिनको बनाकर आप घर बैठे जुकाम को ठीक कर सकते हो।


जुकाम के लक्षण-

जुकाम के शुरुआती लक्षण है गले में खराश, नासिक मार्ग में खारिश, यह बीमारी नाक और गले से शुरू होती है पर बाद में शरीर के सभी अंगों पर इसका असर पड़ता है। इस बीमारी के सामान्य लक्षण है छींक आना, शरीर के तापमान का थोड़ा सा बढ़ना, गले में खारिश,  ठंड लगना, सिर दर्द, शरीर में पीड़ा और भूख का न लगाना और नाक के आसपास की त्वचा को हल्की खारिश हो सकती है। अगर यह सब लक्षण आपको दिखाई दे रहे हैं तो पहले ही सावधान हो जाए ।

 इसके लिए सबसे आसान और घरेलू उपाय है कि आप जितना हो सके गर्म पानी पिए ताकि यह बीमारी और ज्यादा ना बढे।


जुकाम के कारण--

 जुकाम वायरस के संपर्क में आने से होता है। वैसे व्यक्ति की स्वास्थ्य की स्थिति मौसम पर भी आधारित है। कई बार कुछ लोगों को मौसम बदलते ही नाक और गले में एलर्जी की शिकायत शुरू हो जाती है या फिर शरीर को ठंड लगने, नींद की कमी, थकान और तापमान में  अचानक बदलाव धूल और जलन पैदा करने वाले तत्वों को सांसों में जाना भी जुकाम को बढ़ाने में  कारण बन सकते हैं।


● जुखाम होने के अन्य कारण-

 गलत आहार के आते हैं जैसे कि कार्बोहाइड्रेट प्रोटीन और एसिड पैदा करने वाले अन्य खाद्य पदार्थों का अत्यधिक सेवन करना। जो शरीर की स्थिति को बदल देते है। जुकाम  मानव शरीर तंत्र से विषैले  पदार्थ को बाहर निकाल  जाता हैं जुखाम के अवधि में शरीर में जमा हुआ विष की मात्रा और उसको बाहर निकालने की सुविधा पर निर्भर करता है।

जुकाम को आहार और घरेलू उपाय के द्वारा किस प्रकार ठीक करें- वैसे तो बाजार में जुकाम को ठीक करने के लिए बहुत सारी टैबलेट उपलब्ध है पर इनका सेवन करने से अचानक से निकलने वाले विषैले  पदार्थों पर रोक लग जाती है और फिर शरीर  स्वस्थ रहने की बजाय और बीमारी कि चपेट में आ जाता है। क्योंकि किसी भी शैलेश पदार्थ को बाहर निकालने की बजाय अंदर रोकना ज्यादा हानिकारक साबित होता है।

जुकाम के लिए घरेलू उपाय -

हल्दी के उपाय-

एक कप दूध में एक चम्मच हल्दी डालकर गर्म करें और थोड़ी सी चीनी मिलाकर उसे पर जाएं इस सर्दी और जुकाम में बहुत जल्दी आराम होगा।

काली मिर्च - 

तेज जुकाम होने पर एक कप गर्म पानी में काली मिर्च और थोड़ा सा चूर्ण धनिया का मिलकर खूब उबाले जब पानी आधा रह जाए तो इसे छानकर हल्का गुनगुना कर कर दे । ऐसा करने से जुकाम बहुत जल्दी ठीक हो जाएगा।

अदरक -

अदरक को भी जुकाम के लिए बहुत ही रामबाण उपाय माना जाता है जुखाम होने पर अदरक की चाय पिए या फिर अदरक और शहर का रस हल्का गुनगुना कर कर एक-एक चम्मच कुछ कुछ देर बाद लेते रहें ऐसा करने से आपको जुकाम में बहुत जल्दी राहत मिलेगी

जुकाम को ठीक करने के लिए सबसे सर्वश्रेष्ठ तरीका यह है कि मरीज को दो दिनों के लिए  भोजन का उपवास करें। इन दो दिनों तक नींबू और शहद का रस डालकर हल्का गर्म पानी या फिर फल के रस और गर्म पानी पीना चाहिए, क्योंकि रक्त की एसिड स्थिति को निष्क्रिय बनाने के लिए बड़ी मात्रा में फल के रस का सेवन करना गुर्दों की साफ सफाई करना अति आवश्यक है ।

खास तौर पर अनानास का रस बहुत ज्यादा फायदेमंद माना जाता है।

 गर्म पानी-

इन दिनों में हल्का गर्म पानी से एनिमा लेकर रोज आतं साफ करनी चाहिए क्योंकि अंदर की गंदगी जमा होने की वजह से भी हमें बीमारियां घेर लेते हैं।

•फलों का सेवन-

 जुकाम होने पर बहुत सारे लोगों को यह सवाल होता है किन फलों का सेवन करना चाहिए किन का नहीं। इस अवधि में मरीज को दिन में तीन बार ताजा  फल जैसे  नाशपाती, अंगूर, संतरा, अनानास ,खरबूजा अन्य कोई मौसमी  फल खाने चाहिए। इस समस्या होने पर मरीज को शरीर का पाचन तंत्र को मजबूत करने के लिए ऐसा खाना खाना चाहिए जिससे शरीर को आवश्यक विटामिन और खनिज पदार्थ मिल सके। जैसे विटामिन सी इन सभी पोषक तत्वों में प्रमुख है। विटामिन सी हमें संक्रमण होने से बचाता है और हानिकारक एंटीबायोटिक से लड़कर हमारे शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढाता है।  विटामिन सी हमें खट्टे फल और हरे पत्ते वाली सब्जियां, अंकुरित चने और खट्टे फलों  से मिल सकता है। 

डॉक्टरो के अनुसार विटामिन सी का नियमित उपयोग जुकाम को होने से रोकता है और यदि जुकाम हो गया हो तो बड़ी मात्रा में विटामिन सी का उपयोग करने से इसके लक्षण बहुत जल्दी कम हो जाएंगे और जुकाम की अवधि भी कम हो जाएगी अर्थात सर्दी जुकाम जल्दी ठीक हो जाता है। एक साधारण  अनुमान के अनुसार रोज एक से दो ग्राम अथवा 1000 मिलीग्राम से 2000 मिलीग्राम तक की मात्रा में विटामिन सी को सेवन करना चाहिए। 


जुकाम को रोकने के लिए आयुर्वेदिक उपचार-

 जुकाम जैसी समस्या होने पर जुकाम के उपचार के लिए लहसुन का तेल, प्याज के रस के साथ पानी में मिलाकर दिन में कई बार लेने से बहुत जल्दी लाभ मिलता है।


नाक के द्वारा  संतुलन में भाप लेने से आराम मिलता है। 

 गले की खराश के लिए नमक डालकर गर्म पानी में कुल्ला करने से बहुत जल्दी लाभ होता है।

 दिन में दो या तीन बार छाती पर ठंडा पैक रखने से फेफड़ों को संकलन कम होगा जमा हुआ जुकाम को बाहर निकलने में मदद मिलेगी।

जुकाम होने पर अनानास के फल का और जूस का सेवन करना बहुत ही उपयोगी माना जाता है।

जुकाम को ठीक करने के लिए धूप स्नान ताजी हवा और गहरी सांस लेना, तेज चलना, गहरी नींद में सोना, मौसम की जरूरत के अनुसार कपड़ों और आदतों को बदलाव करना इन सब को अपनाकर आप खुद अपनी देखभाल कर सकते हो और जुकाम होने से रोक सकते हो।

इस प्रकार यह है छोटे-छोटे उपाय करके आप इस छोटी सी समस्या को खुद ठीक कर सकते हैं। कहने को जुकाम छोटी सी समस्या है पर इंसान इस जुकाम से भी बहुत ज्यादा परेशान हो जाता है क्योंकि यह एक तरह से एलर्जी है जो मौसम बदलने के कारण हो जाती है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ