शराब का नशा उतारने के लिए कया करे...!





शराब का नशा उतारने के लिए कया करे।  ( घरेलू उपाय)👇🏻

जरूरत से जयादा शराब पिने वाले लोग अक्सर हैंगओवर की समस्या से पीड़ित हो जाया करते हैं। हैंगओवर हो जाने पर लोगों का दिमाग और शरीर दोनों सही तरह से काम नहीं कर पाते है।
अगर आप भी इस समस्या से परेशान हो तो आज यह टोपिक आपके लिए बहुत उपयोगी और रामबाण उपाय है।
हैंगओवर उतारने के लिए क्या खाएं या क्या पिएं। उचित जानकारी नहीं होने के कारण लोग हैंगओवर से परेशान रहते हैं, और उनका जीवन भी हैंगओवर के कारण अस्त-व्यस्त हो जाता है।
यहां हैंगओवर उतारने के लिए कई उपयोगी उपाय बताए गए हैं। आप इन उपायों से घर पर ही हैंगओवर से छुटकारा पा सकते हैं। आइए इन उपायों के बारे में जानते हैं।

शराब का नशा उतारने के लिए घेरेलू और आयुर्वेदिक उपाय:- 

जब कोई व्यक्ति शराब का नशा करता है, और शराब से व्यक्ति को अधिक नशा चढ़ जाता है, तो इस स्थिति को हैंगओवर कहते हैं, और इस सिथती मे व्यकित पागलो जैसी हरकत करता है। हैंगओवर में व्यक्ति अपने आप पर पूरा नियंत्रण नहीं रख पाता। व्यक्ति की बुद्धि शिथल हो जाती है। सिर में दर्द की शिकायत भी रहती है।

हैंगओवर होने पर सिरदर्द, आंखों का लाल होना, मांसपेशियों में दर्द, ज्यादा प्यास लगना, रक्तचाप का बढ़ना, दिल की गति तेज होना, कंपकपी, और पसीना आने जैसी शारीरिक लक्षण दिखने लगते हैं। इसी तरह मानसिक लक्षणों के रूप में चक्कर आना, चिंता, मानसिक तनाव, चिडचिड़ेपन की शिकायत हो सकती है।जब खाली पेट शराब का सेवन किया जाता है तो शराब का अवशोषण तेज गति से होता है। इसलिए इससे अधिक नशा हो जाता है। इस कारण हैंगओवर की स्थिति पैदा हो जाती है। इसलिए हमेशा मद्यपान कुछ हल्का खाना खाने के बाद ही करना चाहिए।

बिना पानी के शराब का सेवन
अल्कोहल पीने से बार-बार पेशाब आता है। इससे शरीर में तरल पदार्थ की कमी हो जाती है। इससे आपके शरीर से इलेक्ट्रोलाइट्स कम होते हैं। यह भी हैंगओवर का कारण बनता है।

हैंगओवर के लक्षण:- 

हैंगोवर के मुख्यतः दो प्रकार के लक्षण प्रकट होते हैं, जो इस प्रकार  हैंः -
हैंगओवर के लक्षण प्रत्येक व्यक्ति में अलग-अलग देखने को मिलते हैं। यह शराब की मात्रा पर भी निर्भर करता है। वैसे ये हैंगओवर के सामान्य लक्षण है ।
जरूरत से ज्यादा बोलना, नींद ना आना ,उबासी आना। लडखडा कर चलना, मुँह का सुखना, बार बार पानी पिने की इच्छा होना, और सिर में भारीपन होना आदि। 
हैंगओवर एक जैसा ही नहीं होता, बल्कि शराब की मात्रा के अनुसार हैंगओवर के लक्षणों में बदलाव भी हो जाते है, जो ये हो सकते हैंः-
 याददाश्त में कमी , नींद ना आना,  जी घबरााने की शिकायत आदि।

इस अवस्था में व्यक्ति का विवेक धीरे-धीरे नष्ट होने लगता है।
बुद्धि, स्मरणशक्ति, वाणी, शारीरिक क्रिया अस्त-व्यस्त होती हैं।शरीर का ओज-तेज क्षीण हो जाता है।
शराबी वयकित  कभी उचित, कभी अनुचित तथा कभी निरर्थक बातें करता है।

शराबी को स्वयं पर नियंत्रण नहीं रह जाता है। वह फालतू बातें करता है।

जो नहीं खाना चाहिए, वह भी खा लेता है। चेतना खत्म हो जाती है।
शराब के नशे में अपने गोपनीय रहस्यों को भी प्रगट कर देता है।
अशुभ व अनुचित कार्य करने में समर्थ हो जाता है।
व्यक्ति टूटी हुई लकड़ी के समान भूमि पर गिर पड़ता है।
वह मुर्दे से भी बुरा हो जाता है, अर्थात् जीते हुए भी मुर्दे के समान होता है।

जिस सुख प्राप्ति के लिए शराब पीता है, वह सुख भी उसे प्राप्त नहीं होता है। यह एक भ्रम है कि शराब पिने से टेंशन कम होती है।

शराब का नशा या हैंगओवर से बाहर आने के लिए ये घरेलू नुस्खे आजमा सकते हैंः-

ज्यादा शराब का सेवन करने के बाद शरीर में शुगर लेवल खराब हो जाता है। इसे ठीक रखने के लिए 1 गिलास ठण्डे पानी में निंबु का रस मिलाकर सेवन करें। इसमें थोड़ी-सी चीनी डाल सकते हैं। इससे हैंगओवर उतारने में आसानी होती है।
ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए। कोशिश करें कि नारियल पानी पिएं। इससे हैंगओवर को उतारा जा सकता है।

पुदीना का इस्तेमाल:-
पुदीना की 3-4 पत्ती लें। इसे गर्म पानी में डालकर पिएं। इसके सेवन से पेट में स्थित वायु दूर होती है, और आंतों को आराम मिलता है। पुदीना का सेवन हैंगओवर उतारने का सरल उपाय है।

अदरक का रस:-
हैंगओवर उतारने के लिए अदरक व काला नमक का प्रयोग करे। 
शराब पीने से और हैंगओवर  होने से जो अरुचि, मिचली व उल्टी होती है, उससे राहत पाने के लिए अदरक व काला नमक का सेवन करना चाहिए।

हैंग ओवर उतारने के लिए टमाटर का उपयोग:-
ताजे टमाटर का रस लें। इसमें फ्रूक्टोज की मात्रा अधिक होती है, जो कि शराब का पाचन करता है। इसमें उपस्थित जीवनीय एवं खनिज तत्व हैंगओवर के लक्षणों को कम करता है।

शहद का सेवन और हैंगओवर उतारने के लिए लााभदायक:-
ऐसी अवस्था में शहद का सेवन करना चाहिए। शहद अल्कोहल के हानिकारक प्रभाव और हैंगओवर को बेअसर करता है। शहद में मीठे की मात्रा होने के कारण शराब का नशा उतर जाता है। शहद शराब के पाचन में भी मदद करता है।

हैंगओवर होने पर पूरी नींद लेनी चाहिए और सेब और केला का सेवन जरूर खाना चाहिए।

पीने के साथ मीठे जूस मिलाकर ले सकते हैं। ध्यान रखें कि पीने से पहले एवं बाद में मीठी चीजें ना लें, क्योंकि इससे शराब का पाचन तेजी से होती है, और हैंगओवर होने की संभावना बढ़ जाती है। इसलिए शराबी को
खाने के लिए मिठे पदार्थ कम से कम दे।
शराब का नशा उतारने के लिए ऑलिव ऑयल का प्रयोग करे

शराब पीने से पहले एक चम्मच ऑलिव तेल का सेवन करें, और भारी खाना ना खाएं। इससे हैंगओवर से बचा जा सकता है।

हैंगोवर के समय आपका खान-पान ऐसा होना चाहिएः-
 चावल, जौ, मूंग, उड़द, गेहूं, मुरब्बा, मिश्री, पुराने घी का का सेवन करें।और खट्टी चीजों का जरूर इस्तेमाल करे जैैसे, दही, लस्सी, नीबूं,और संतरा और मौसमी जैैसे खट्टे फल 

हैंगओवर से राहत पाने के लिए
घेरेलू उपाय ;-
हैंगओवर से बचने के लिए उपवास करें।
हैंग ओवर से बचने के लिए ठण्डी लस्सी का सेवन करें।
हैंगओवर से बचने के लिए ठंडे जल से स्नान करें।

जब मधुमेह  वाला व्यक्ति अधिक मात्रा में शराब पीता है, और हैंगओवर का शिकार होता है, तो ब्लडशुगर लेवल पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है। अधिक मात्रा में शराब का सेवन करने से इन्सुलिन की प्रभावशीलता कम हो जाती है, जिससे ब्लडशुगर का स्तर बढ़ जाता है। इसके कारण सिर दर्द एवं थकान बनी रहती है।

क्या गर्मी के मौसम में होता है शराब पीने से नुकसान होता है...?

गर्मी के मौसम में पसीना अधिक निकलता है, जिसकी वजह से शरीर के तत्व भी निकलते हैं। शराब पेशाब की मात्रा को बढ़ा देता है। यह शरीर में पानी एवं नमक की कमी कर देता है, जिसके कारण शरीर में हैंगओवर और अधिक बढ़ जाता है।

क्या भय, शोक, क्रोध के समय शराब पीना हानिकारण होता है...?
शराब एक डिप्रेस्न्टा है, जिसका अर्थ है कि यह मस्तिष्क और केन्द्रिय तंत्रिका-तंत्र की प्रक्रिया को धीमा कर देता है। ज्यादा मात्रा में शराब के सेवन से जो हैंगओवर होता है उससे  न्यूरोट्रंसमीटरों पर दुष्प्रभाव पड़ता है। यह मानसिक स्वास्थ के लिए आवश्यक होता है।

तनाव को दूर करने के लिए क्या करना चाहिए...!!


मनुष्य अपने दुखों को दूर करने के लिए शराब का सेवन करता है, लेकिन सच यह है कि शराब दुख को दूर तो नहीं करता, बल्कि मानसिक तनाव एवं चिन्ता को जरूर पैदा कर देता है। हैंगओवर के कारण शारीरिक तौर पर अस्वस्थ हो जाते है, और यह शारीरिक तनाव ,मानसिक तनाव को भी उत्पन्न करता है। यह परिवार के अन्य सदस्यों में भी तनाव पैदा करता है।

अगर हैंगओवर से बचना चाहते हैं तो शराब पीने से बचें। और शराब पीना एक भयंकर बीमारी और बुरी आदत है इससे बचने के लिए अपनी विल पावर का होना सबसे ज्यादा जरूरी है। अगर आपके अंदर विल पावर है कोई आपको शराब नहीं पिला
सकता। इसको पीने के बाद थोड़ी देर तो अच्छा लगता है, लेकिन के बाद इसके परिणाम  बहुत बुरे और भयंकर होते हैं। आप अपने आप को खुद मौत के मुंह में लेकर जा रहे हो कहने का भाव है आप खुद ही मौत को निमंत्रण दे रहे हो। 
आज के इस टॉपिक में हैंगओवर उतारने के आपको कुछ घरेलू और आयुर्वेदिक बताएं हैं ,जिनको आप अपने चाहने वाले और दोस्तों को शेयर कर सकते हो।
इसके लिए तनाव को जिंदगी से दूर करना होगा। तनाव को दूर करने के लिए सुबह उठ कर 4-5 ग्लास पानी का सेवन करें। इसके बाद योग करें। योगा करने से शारीरिक एवं मानसिक दोनों तनाव में राहत मिलती है। और सुबह उठते ही नींबू पानी का प्रयोग जरूर करें नींबू का प्रयोग करने से नशा बहुत पर जल्दी उतरता है।
शराबी पन एक भयंकर मानसिक बीमारी है ,दो पैग हमेशा दवाई का काम करते हैं और जरूरत से ज्यादा पीना मानसिक बीमारी का कारण है इसलिए अपने जीवन में योग और प्राणायाम को अपनाएं और अपने आप को ठीक रखें स्वास्थ्य ही जीवन का सबसे बड़ा धन है। अगर स्वास्थ्य सही है तो सब कुछ अच्छा और कीमती है, अगर स्वास्थ्य हीं सही नहीं है तो दुनिया की कोई भी धन दौलत अच्छा नहीं लग सकती। इसलिए अपने स्वास्थ्य पर ध्यान दें और किसी भी बुरी आदत का शिकार ना बने। 

जितना हो सके नशे से दूर रहें नशा किसी भी प्रकार का अच्छा नहीं होता ।नशे की सही परिभाषा खुद का नाश करना है अगर आप अपने आप को सुरक्षित रहना चाहते हो तो हर तरह के नशे से हमेशा दूर रहो और अपना और अपने परिवार के लिए जिऔ और जीने दो ।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ