फूलों को सुन्दर और जल्दी बड़ा करने के लिए चमत्कारिक उपाय

आज में आपको फुलों के बारे में बताती हूँ यह सारे फुल मेरे घर मे 
लगे हुए हैं।
सच मानो तो फूल दुनिया की सबसे सुन्दर, सुकून और खुशी देने वाली चीजों में से हैं, तभी तो इंसान अपनी भावनाओं के इजहार करने के लिए फूलों का का इस्तेमाल करते है. खास कुछ लोग अपने प्यार का इजहार करने के लिए गुलाब के फूल का सबसे ज्यादा इस्तेमाल करते हैं। गुलाब का फूल फूलों में सबसे ज्यादा सुंदर माना जाता है।
फूलों की सुंदरता का वर्णन करना  शब्दों में  मुमकिन ही नहीं  नामुमकिन है ,क्योंकि  कुदरत ने  फूलों में इतने सुंदर रंग दिए हैं जिनका हम शब्दों में वर्णन नहीं कर सकते। फुल कुदरत की एक औनोखी और अदभुुत रचना है । जिसको हम सिर्फ अनुभव और देख सकते हैं। धरती पर मानो खुदा ने फूलों से सिंगार कर रखा हो । इन्सान चाहकर भी इतने रगं अपनी पैसिल से नहीं बना सकता जितने 
कुदरत ने फूलों की रचना में किये है। 
 
हेलेन केलर ने प्यार को परिभाषित करने के लिए कहा था कि प्यार उस फूल की तरह है, हालांकि वो उसे छू नहीं सकती, लेकिन जिस तरह फूलों की खुशबू से बाग महकते हैं. वैसे ही प्यार की खुशबू से जिंदगी में महक आती है.

राल्फ वाल्डॉ एनेरसेन ने फूलों का पृथ्वी के लिए महत्व बताते हुए कहा कि धरती फूलों के रूपों में हंसती है. यानी, फूल हमारी पृथ्वी की खुशी को दर्शाते हैं. और धरती के श्रृंगार के लिए फुल गहनों का काम करती है।

इंसानों की जिंदगी में फूलों के इस महत्व को इस बात से भी समझा जा सकता है कि फूल कई देशों की स्थानीय संस्कृति का हिस्सा रहे हैं और उनके अस्तित्व का शुक्रिया अदा करने के लिए विश्वभर में फूलों से जुड़े कई त्यौहार मनाए जाते हैं.

फूलों से जुड़े कई तरह की पुष्प प्रदर्शनियां भी लगाई जाती हैं. इन उत्सवों के जरिए स्थानीय लोग और विदेशी पर्यटक स्थानीय संस्कृति के साथ-साथ त्यौहार के अनुभव का भी आनंद लेते हैं.

यह सारे फुल मैंने अपने घर में लगाए हुए हैं। आज मैं आपको अपने घर के फूलों के बारे में बताती हूं कि इनको मैं हरा-भरा और रंग बिरंगा रखने के लिए क्या क्या डालती हूं ।सबसे पहले आप मेरे घर के फूलों की pictures को देखिए और कमेंट करके बताइए कि मेरे घर के फुल आपको कैसे लगे।
⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘⚘
Every flowers image in my house:------- 











,




फूलों को बहुत जल्दी बड़ा करने के लिए चमत्कारिक उपाय:----
मेरे अपना निजी अनुभव:----
सरसों की खली फुलो के लिए है वरदान:---

  सरसों की खली बाजार से बहुत आसानी से मिल जाती हैं । सबसे पहले इसको एक बाल्टी में 1 किलो पानी लेकर 5 दिन के लिए भिगो दें। सरसों की खली की मात्रा लगभग 1 किलो ही होने चाहिए।  भिगी हुई सरसों की खली को 5 दिन बाद हर गमले में एक कटोरी के लगभग फूलों वाले गमले की जड़ में डालते जाएं। यह प्रयोग आप हर 15 दिन के बाद करें, और फिर चमत्कार देखिए आप के पौधे और फूल इतने हरे-भरे और रंग-बिरंगे फूलों से लद जाएंगे कि आप देखकर हैरान रह जाएंगे। 

डिस्प्रीन टेबलेट:----
अपने गमले के पोधो को तरोताजा और गहरे रगं के फुलो के लिए मै disprin tablet का युज करती हूँ। अब हम गमले में हम बीज को डिस्प्रीन में भिगो कर लगाएंगे और दूसरी तरफ पानी में भिगो कर लगाएंगे.डिस्प्रीन को पानी में घोलने के बाद उसमे बीज कुछ घंटो के लिए भिगो कर लगाना है. बीज लगाने के बाद आप देख सकते है की कैसे डिस्प्रीन में भिगो कर लगाने वाले बीज बड़ी तेज़ी से बढ़ते है और दूसरे गमले वाले बीज बहुत धीरे ग्रोथ करते है तो इस से ये साबित होता है की डिस्प्रीन पौधों की ग्रोथ के बढ़ाती है। यह उपाय अपनाये और अपने पौधों को जल्दी बढाये।
इसके इलावा कई बार होता है कि हमारे बगीचे के पौधों में फंगस लग जाती है जिसके कारण पौधे मुरझा जाते हैं व उनकी चमक भी खो जाती है ।
इस कमी को दूर करने के लिए आप एक गैलन पानी में एक डिस्प्रीन मिला दें जिसके कारण पौधों में फंगस नहीं लगेगा और आपके बगीचे की ताजगी बरकरार रहेगी।

गोबर की खाद:-------
मै अपने गमलो के लिए गोबर की खाद का सबसे जयादा इस्तेमाल करती हूँ।
मार्केट में मिलनेवाले केमिकल फर्टिलाइजर्स भी प्रयोग करती हूँ। इसके लिये हम बाजार से नीम, सरसों या मूंगफली की खघ भी खाद के रूप में इस्तेमाल की जाती है। इनमें प्रोटीन की मात्रा ज्यादा होती है।

खाद मोटे तौर पर 2 तरह की होती है।
आमतौर पर किसी अच्छी नर्सरी से ऑर्गेनिक खाद के पैकेट मिल जाते हैं। इनमें नीमखली, बोनमील, सरसों खली, कंपोस्ट वगैरह शामिल हैं। ये आमतौर पर 40 से 80 रुपये प्रति किलो के हिसाब से मिलती हैं। आमतौर पर पौधों को लगाते समय और दोबारा उनके फूल आते समय खाद दी जाती है। वैसे, महीने में एक बार खाद डाल सकते हैं। छोटे पौधों में मुट्ठी भर और बड़े पौधों में दो मुट्ठी खाद बहुत रहती है।
गर्मियों में कम खाद देनी चाहिए। 
नोट: --------
खाद तभी दें, जब गमलों की मिट्टी सूखी हो। खाद देने के बाद मिट्टी की गुड़ाई कर दें और फिर इसके बाद ही पानी दें।

धूप है बेहद जरूरी:------

पौधों के लिए धूप जरूरी होती है, लेकिन दोपहर की कड़ी धूप से पौधों को बचाएं। इनडोर पौधों को भी थोड़ी देर के लिए धूप दिखानी चाहिए। इन्हें हफ्ते में कम-से-कम 3 दिन सुबह के वक्त डेढ़-दो घंटे के लिए धूप में रखें। फिर अंदर रख दें। गर्मियों में पौधों को कड़क धूप से बचाएं।

चाय पत्ती का प्रयोग:--
हम अपने गमलो के लिए बची हुई चाय पत्ती का प्रयोग खाद के रूप में कर सकते हैं। आप चाय बनने के बाद जो चाय पत्ती छलनी में बच जाती है उसको इकट्ठा करके रख ले और चाय पत्ती को इस प्रयोग से आप के गमले के फूल बहुत अच्छे खिलेंगे यह मेरा निजी अनुभव है।

बिनौले की खाद:----
गमले के फूलों को सुंदर और गहरे रंगों के लिए पशुओं पर डालने वाली बिनौला खाद भी डाल सकते हैं। इससे भी पौधों का रंग गहरा और सुंदर रगं होता है। सबसे पहले हम बिनौले को भिगोकर खाद के तौर पर तैयार कर लेंगे और फिर इनको गमलों में डाल दें। यह खाद डालने के बाद गमलो में पानी दे दे।
यह प्रयोग की गमले के फूलों को एक नई जान डाल देता है।
 

फुलो के लिए डी ए पी का प्रयोग:-----

पेड पोधो और फूलों  के लिए  डी ऐ पी खाद उतना ही जरूरी है जितना इंसान के लिए दवाइयां ।जिस प्रकार हम मल्टीविटामिंस दवाइयों का प्रयोग करते हैं उसी प्रकार पेड़ पौधे फूलों के लिए डीपी भी काम करता है। 15 दिन में एक बार गमलो मे डी ऐ पी  का प्रयोग जरूर करें। ध्यान रखें डीएपी पौधे की जड़ में कभी भी direct ना डालें । वरना  पौधे को नुकसान कर सकता है। इसलिए ध्यान रखते हुए साइड से मिट्टी हटाते हुए गमले के चारों तरफ डाल दें।

Motivational quote:--------
मेहनत एक दिन जरूर रगं लाती है 

अगर आपको मेरा आज का यह तो  टोपिक अच्छा लगा हो और आपको और आपके  किसी  चाहने वाले को फूलों का बहुत शौंक हो तो उन्हें जरूर शेयर करें।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ