unknown facts about mind || दिमाग के रोचक तथ्य || दिमाग़ के रहस्य |


Unknown facts about mind-
दिमाग का हमारे शरीर में के सभी अंगों में एक खास महत्व है क्योंकि दिमाग की वजह से इंसान सोचने समझने की शक्ति रखता है। इसलिए इस अंग को महत्वपूर्ण माना जाता है। एक स्वस्थ व्यक्ति तभी माना जाता है जब उसका दिमाग सही तरीके से सोचने समझने की शक्ति रखता हो।  अगर इंसान का दिमाग काम ना करें सिर्फ सांसे चलती रहे तो इंसान किसी काम का नहीं रहता उस स्थिति में इंसान को कोमा की स्थिति कहा जाता है। आज हम आपके साथ दिमाग से जुड़े कुछ ऐसे अहम तथ्य बताने जा रहे हैं जिनको पढ़कर आप भी आश्चर्यचकित रह जाएंगे।

unknown facts about Indian currency
• इंसान का दिमाग एक एकिड़ से अधिक होता है। इसका मतलब है कि दोनों हाथों के बीच माध्यम द्वारा एक दुसरे को अनुभव किया जा सकता है।

• दिमाग में रहने वाले संदेशों का तारीका इतना गहरा होता है कि अगर एक बार सबकुछ लिख दिया जाए, तो वो लगभग 1000 पृष्ठों के समान होगा। 

• अगर 5 से 10 मिनट तक दिमाग में ऑक्सीजन की कमी हो जाए तो यह हमेशा के लिए डैड हो सकता है।

• मनुष्य का दिमाग 40 साल की उम्र तक बढ़ता रहता है।

• एक दिमाग में बने सिनाप्सेस की संख्या, जिसे न्यूरोन्स कहा जाता है, विश्व में कीटों की जनसंख्या से भी अधिक होती है।

• जब हम सोते हैं, तो हमारा दिमाग अच्छी तरह से काम करता है और इतनी संगठितता के साथ संकेत भेजता है कि हम रात को उनकी सहायता से गहरी नींद पा सकते हैं।
 
• विज्ञान ऐसा मानते हैं कि ब्रह्मांंड में जटिल और रहस्यमयी चीज  मनुष्य का दिमाग है। 

• दिमाग में न्यूरोन्स की तारीके से व्यावसायिक रूप से ज्यादा संख्या होती है, जो अधिकतर युद्धाभ्यासी गोलियों की संख्या से भी अधिक होती है।

• दिमाग की गतिविधियों के दौरान एक व्यक्ति का ब्रेन वेव उसके इंटरनेट सर्फिंग के दौरान सर्फिंग करने से भी तेज हो जाता है।

• अपने दिमाग में सकारात्मक विचारों को ध्यान देने से, व्यक्ति अपनी नकारात्मक सोच को रोक सकता है और अपने मानसिक स्वास्थ्य को सुधार सकता है।

• दिमाग की गतिविधि दिन में 20 वज़न के बराबर होती है, जिससे वह शरीर का सबसे ऊंचा ऊतक होता है।

• दिमाग में केवल 2% से भी कम अंश ही वोल्यूम में पानी होता है, फिर भी वह एक शरीर के सभी प्रोटीन का 70% और शरीर के सभी अवसाद का 80% बनाने में मदद करता है।

• दिमाग का वज़न एक व्यक्ति के ऊतकों के मानसिक गतिविधियों के आधार पर बदल सकता है।

• एक व्यक्ति का दिमाग सोलह लाख टेराबाइट तक की जानकारी को संग्रहित कर सकता है।

• दिमाग तभी रेडियोधर्मी तरंगों को स्वीकार करता है जब उनकी वेलेंट चौड़ाई 10 तक होती है, जो बड़े सुरक्षित शील्डिंग के साथ होती है।

• जब हम खुश होते हैं, तो हमारे दिमाग के भीतर न्यूरोट्रांसमिटर नामक रसायनिक पदार्थ बढ़ जाते हैं, जो हमारे मानसिक स्वास्थ्य को सुधारते हैं।

• दिमाग द्वारा उत्पन्न गर्मी एक बिजली बल्ब को चमकाने के लिए पर्याप्त होती है।

• दिमाग में रहने वाले सोचने के प्रक्रिया में ताकतवर इलेक्ट्रिकल संकेत उत्पन्न होते हैं, जिनका ध्यान आपको भयानक या अद्भुत विचारों के साथ उपहास करते हुए भी खुदरा कर सकता है।

• हमारे दिमाग की मेमोरी अनलिमिटेड होती है या कंप्यूटर की तरह कभी नहीं कहेगा कि मैं मेमरी  फुल हो गई। 

• दिन के मुकाबले में रात में हमारा दिमाग ज्यादा एक्टिव रहता है।

 • मोटरसाइकिल चलाते समय हेलमेट पहनने से दिमाग को चोट लगने की संभावना 80% कम हो जाती है।

• मनुष्य का दिमाग  सबसे ज्यादा चर्बी वाला अंग माना जाता है इसके 60 % हिस्से में चर्बी  होती है। 

• जब कोई इंसान मर जाता है तो उसका दिमाग 60 मिनट तक जिंदा रहता है जिससे वह अपने जीवन की सभी यादे सपने की तरह देखता है ।

•एक गिलास पानी पीने के बाद मनुष्य का दिमाग 14% तेजी से काम करता है।

 • जिंदा व्यक्ति का दिमाग बहुत आसानी से काटा जा सकता है क्योंकि जिंदा दिमाग काफी नरम होता है। 

• एक शोध के अनुसार पता चला है कि महिला और पुरुष का दिमाग की संरचनाएं  अलग-अलग होती हैं। 
निष्कर्ष-
दिमाग की संरचना कुदरत ने बडे ही अनोखे  तरीके से की है। दिमाग को पेड़  की जड की तरह माना जाता है। जिस प्रकार एक पौधे की जड़ में सब कुछ समाया होता है उसी प्रकार इंसान का दिमाग भी पौधे की जड़ की तरह होता है। अगर हमारे शरीर में कहीं भी तकलीफ होती है तो सबसे पहले संकेत दिमाग को मिलता है बाकी की बॉडी बाद में  काम करती है,  सपोज  करो आपके शरीर में कहीं किसी शरीर के किसी भी हिस्से में अगर खुजली हो रही है तो सबसे पहले मैसज  दिमाग आपको देता है इसलिए  दिमाग सबसे जयादा  महत्वपूर्ण माना जाता है। 
Posted by-kiran

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ