गाजर के फायदे | गाजर खाने के सवास्थय लाभ | गाजर के औषधीय गुण |

Tittle- गाजर खाने और जुस पिने के फायदे और सवासथय लाभ- 
गाजर एक ऐसी सब्जी है जिसको हम फल, जूस और सब्जी के रूप में इस्तेमाल करते हैं। सर्दी का मौसम शुरू होते ही गाजर की सब्जी सभी दुकानों पर लगभग आ जाती है। गाजर का जूस पीने से बहुत सारे स्वास्थ्य संबंधी समस्या ठीक हो सकती है। ताजी गाजर का सलाद व सब्जी बनाने के लिए उपयोग किया जाता है। इसी तरह गाजर का जूस जीरा, राई  और अजवायन डालकर इसका पेय पदार्थ भी बनाया जाता है,  जिसे हम कांझी भी कहते हैं ।आज इस आर्टिकल के माध्यम से हम आपको यह बताने की कोशिश करें कि गाजर के क्या-क्या फायदे हैं।
गाजर जाड़े के मौसम की सब्जी है , जिसकी जड़े खाने के उपयोग में आती है । इसे अंबेलीफेरी कुल में रखा गया है । इसका वांशिक नाम डॉक्स और जाति नाम कैरोटा है । इस प्रकार वनस्पति शास्त्र में इसका नाम डॉक्ट कैरोटा है । गाजर उगाने के लिए गहरी दोमट या बलुई दोमट खाद्ययुक्त मिट्टी उपयुक्त होती है । गाजर में पाया जाने वाले बीटा कैरोटीन वह तत्व है जो शरीर में विटामिन ए की कमी को दूर करता है । 100 ग्राम गाजर में से 3150 से  अंतरराष्ट्रीय इकाई तक विटामिन ए की मात्रा पायी जाती है । विटामिन ए रतौंधी और अंधापन रोकने के लिए आवश्यक है । कैरोटीन शरीर के बिखरे हुए तंतुओं को नियंत्रित करता है। तेज रोशनी के कारण शरीर में अस्थायी ऑक्सीजन अणुओं का प्रभाव बढ़ जाता है । बीटा कैरोटीन में इन अणुओं का विरोध करने की क्षमता होती है । ये ऑक्सीजन अणु तेज रोशनी के अलावा मादक पदार्थों  के सेवन तथा दूषित वातावरण के कारण शरीर में पैदा होने लगते हैं । इनकी वृद्धि से न केेवल शरीर  पर झुर्रियां पड़ने लगती हैं और तंतु नष्ट होते हैं , बल्कि व्यक्ति समय से पहले ही बुढ़ापे की दहलीज पर कदम रखने लगता है। बीटा कैरोटिन से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है । बीटा कैरोटीन इंटरफेस प्राकृतिक रसायन की शरीर में वृद्धि करता है । यह रसायन कैंसर पैदा करने वाली कोशिका रोकथाम करता है । जिस प्रकार किसी भी तत्व की कमी शरीर को क्षति पहुंचाती है । उसी प्रकार  तत्व की अधिकता शरीर पर कुप्रभाव डाल सकती है । विटामिन ' ए ' की अधिकता भी शरीर हानिकारक साबित हो सकती है । इसलिए गाजर खायें , लेकिन एक सीमा तक , बहुत ज्यादा भी नहीं खानी चाहिए। 


● गाजर खाने के फायदे - 

गाजर लाल या काली ( 1 ) गाजर के सेवन से रक्त शुद्ध होता है । भूख बढ़ती है , मूत्र रोग आदि और खांसी जुकाम आदि दूर होते हैं ।

* यह वायु एवं कफ के दोषों का शमन करती है तथा बवासीर रक्तपित पथरी , नपुसकता , प्रमेह , मूत्ररोग , अग्निमांद्य व संग्रहणी आदि रोगों को जड़मूल से नष्ट कर देता है । 
 
* गाजर के सेवन से आंतों की समस्त बीमारियां ठीक हो जाती है । 
 गाजर के बीज गर्म होते हैं , अतः गर्भवती महिलाओं को उनका उपयोग नहीं करना चाहिये । बीज पचने में भारी होते हैं । 

* गाजर में  कैलशियम एवं केरोटीन की प्रचुर मात्रा होने के कारण छोटे बच्चों के लिये यह एक उत्तम आहार है । 

* गाजर में आंतों के हानिकारक जन्तुओं को नष्ट करने का अद्भुत गुण है । 
विशेष गाजर के भीतर का पीला भाग खाने से , ज्यादा गाजर खाने के बाद 30 मिनट के अंदर पानी से खांसी आने लगती है । अत्यधिक गाजर खाने से पेट में दर्द होता है । ऐसे समय में थोड़ा गुड़ खायें । पित्तप्रकृति के लोगों को गाजर का सावधानीपूर्वक उपयोग करना चाहिये । 
 * दिमागी कमजोरी- गाजर के रसका नित्य सेवन करने से दिमागी कमजोरी दूर होती है । 

* सूजन- इसके रोगी को सब आहार त्यागकर केवल गाजर का रस अथवा उबली हुई गाजर पर रहने से लाभ होता है । 

*  मासिक न दिखने पर या कष्टार्तव मासिक कम आने पर या समय से न आने पर गाजर के 5 ग्राम बीजों का 20 ग्राम गुड़ के साथ काढ़ा बनाकर लेने से लाभ होता है । 

* श्वास- हिचकी- गाजर के रसकी 4-5 बूंदें दोनों नथुनों में डालने से लाभ होता

* नेत्ररोग- दृष्टिमन्दता , रतौंधी , पढ़ते समय आंखों में तकलीफ होना आदि । रोगों में कच्ची गाजर या उसके रसका सेवन लाभप्रद है । यह प्रयोग चश्मे का  नंबर घटा सकता है । 

* पाचनसम्बन्धी गड़बड़ी- अरुचि , मन्दाग्नि , अपच , आदि रोगों में गाजर के रस में नमक , धनिया , जीरा , काली मिर्च , नींबू का रस डालकर पीये अथवा गाजर का सूप बनाकर पीने से लाभ होता है । 

* पेशाब की तकलीफ- गाजर का रस पीने से पेशाब आता है । रक्तशर्करा भी कम होती है । गाजर का हलवा खाने से पेशाब में कैलशियम , फास्फोरस का आना बंद हो जाता है । 

* नकसी फूटना ताजे गाजर का रस अथवा उसकी लुगदी सिर पर एवं ललाट पर लगाने से लाभ होता है । 
 जलने पर जलने से होनेवाले दाह में प्रभावित अंगपर बार - बार गाजर का रस लगाने से लाभ होता है ।
गाजर सर्दी में मिलने वाली बहुत ही आसानी से और सस्ती सब्जी मानी जाती हैं इसलिए सर्दियों में इसका भरपूर प्रयोग करें और अपने स्वास्थ्य के प्रति ध्यान दें क्योंकि गाजर के जूस सब्जी और सलाद का हर प्रकार से फायदे ही फायदे हैं।

 Disclaimer- इस आर्टिकल में हमने आपको जो भी जानकारी दी है गाजर के बारे में एक सामान्य जानकारी है। अगर आपकी समस्या बहुत ज्यादा गंभीर है तो आप अपने नजदीकी डॉक्टर से जरूर सलाह करें

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ