नमक खाने के नुकसान | disadvantage of eating salt |

ज्यादा नमक खाने से नुकसान और बिमारियो के कारण। 

नमक हमारे खाने का स्‍वाद तो बढ़ाता ही है, लेकिन साथ में इसका ज्‍यादा सेवन हमें कई तरह की बीमारियों का शिकार भी बनाता है। इसलिए डॉक्‍टर इसे जितनी जरूरत है हमें खाने की सलाह देेते हैं...
खाने में अगर गलती से नमक की मात्रा ज्‍यादा हो जाए तो खाने का पूरा स्‍वाद खराब हो जाता है. उसी तरह अगर शरीर में ज्‍यादा मात्रा में नमक जाने लगे तो यह सेहत को कई तरह से नुकसान पहुंचा सकता है। जरूरत से ज्यादा नमक का सेवन करने से शरीर में कैलोरीज बढ़ती हैं जो कैंसर जैसी भयंकर बिमारियों की चपेट में आ जाते है ।आज हम आपके लिए ऐसी जानकारी शेयर कर रहे है कि नमक हमारे शरीर के लिए खाना कितना खाना जरूरी है और कितना ग़लत है।

जब हम नमक का अधिक सेवन करते हैं तब सोडियम का उच्च स्तर हमारे रक्तप्रवाह में प्रवेश करता है। हमारा शरीर इस अधिक सोडियम की मात्रा को घोलने के लिए जितना संभव हो, उतना पानी रखे रखता है। इसका मतलब यह है कि हमारा गुर्दा मूत्र का निर्माण कम करता है और उस पानी के शरीर में रहने से शरीर के विभिन्न हिस्सों जैसे पैर, एड़ी, चेहरे, हाथ में हम सूजन का अनुभव करते हैं जिसे एडिमा कहा जाता है। इसलिए यदि किसी को बहुत अधिक पेशाब या एडिमा का अनुभव होता है तो संभावना है कि आप अपने आहार में बहुत अधिक नमक का सेवन कर रहे हैं। इस तरह के लक्षण आते ही तुरंत अपने डाक्टर से सलाह जरूर करें।

नमक ज्यादा खाने से बढ़ता है हाई बीपी की समस्या:-----

आहार में सोडियम के अधिक सेवन से हाई बीपी की समस्या हो सकती है। बहुत अधिक नमक के सेवन से रक्त प्रवाह की मात्रा बढ़ जाती है। अतिरिक्त रक्त प्रवाह हमारे दिल और धमनियों पर अतिरिक्त दबाव पैदा करता है। नमक उन दवाओं जैसे एसीई अवरोधकों के साथ भी हस्तक्षेप कर सकता है जो उच्च रक्तचाप के इलाज में मदद करती हैं। आम तौर से उच्च रक्तचाप के कोई लक्षण नहीं होते हैं इसलिए लोगों को यह महसूस करने में सालों लग जाते हैं कि वे उच्च रक्तचाप से ग्रसित हैं। आपके चिकित्सक आपके सोडियम के स्तर का पता लगाने के लिए आपके रक्त का परीक्षण करवा सकते हैं, साथ ही ब्लड प्रेशर की भी जांच करवा सकते है।

गुर्दे की पथरी की समस्या :------

उच्च नमक का सेवन आपके मूत्र में कैल्शियम का स्तर बढ़ाता है जिससे आपको गुर्दे की पथरी होने की संभावना अधिक होती है। इसलिए यदि आपको गुर्दे की पथरी होने की संभावना महसूस हो रही हैं तो इसका मतलब हो सकता है कि आप बहुत अधिक नमक का सेवन कर रहे हैं।
⚘⚘⚘⚘⚘
मोटापा का शिकार :------

हाल के अध्ययनों से पता चलता है कि उच्च नमक के सेवन से कुछ लोगों में मोटापे का खतरा बढ़ सकता है। कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हैं लेकिन एक तर्क यह है कि बहुत ज्यादा नमक खाने से आपको प्यास लगती है। इसलिए प्यास को बुझाने के लिए आप चीनी युक्त मीठे पेय का सेवन करते हैं। इस प्रकार आप जरूरत से अधिक कैलोरी का सेवन करते हैं। यह भी देखा गया है कि बच्चों और किशोरों में प्रतिदिन नमक के 1 ग्राम की वृद्धि से प्रतिदिन 27 ग्राम चीनी और मीठे पेय का सेवन बढ़ सकता है जिससे मोटापा बढ़ता है। अगर आप ज्यादा बाजार से पैक किए गए खाद्य पदार्थ का सेवन करते हैं या बहुत अधिक खाते हैं तो आपके शरीर में नमक और कैलोरी की मात्रा बढ़ जाती है। 
जिसके कारण आप अनचाहे मोटापा का शिकार होते हो।

जठरांत्र की समस्या -------------

 खाने में नमक की उच्च मात्रा का सेवन जठरांत्र की समस्या को पैदा कर सकता है। यह एस्ट्रोथिक जठरांत्र की संभावना विकसित करने की संभावना को बढ़ाता है और गैस्ट्रिक ट्यूमर को भी पैदा कर सकता है। नमक का अधिक सेवन हेलिकोबैक्टर पायलोरी बैक्टीरिया द्वारा पेट के उपनिवेशण को बढ़ाता है जिससे जठरांत्र की समस्या पैदा और बिगड़ सकती है। अगर आप इसपर ध्यान नहीं देते हैं तो यह गैस्ट्रिक ट्यूमर की समस्या भी पैदा कर सकता है। एक अध्यनन के अनुसार उच्च नमक का सेवन पेट के कैंसर का एक संभावित कारण होता है।

नमक के फायदे:------
  जिस प्रकार अधिक नमक खाने से हमारे शरीर में कई प्रकार की बीमारियां जन्म ले लेते हैं उसी प्रकार नमक के खाने के कुछ लाभ भी हैं। अगर इसको हम सही मात्रा में सही समय पर प्रयोग करें तो इसके अनेक लाभ भी मिलते हैं।


गले में खराश कई कारणों की वजह से हो सकती है जैसे आम सर्दी, ड्राई एयर, अत्यधिक चिल्लाना या गले के संक्रमण आदि, किंतु नमक के साथ इसका इलाज किया जा सकता है।

नमक के पानी से कुल्ला करने से दर्द और गले में खराश की वजह से सूजन में मदद मिलती है। साल्ट एक एंटीसेप्टिक की तरह काम करता है और संक्रमण से लड़ने में मदद करता है जो गले में खराश की वजह होते हैं
1 कप गर्म पानी में आधा चम्मच नमक का मिलाएं।नमक को घोलने के लिए अच्छी तरह से हिलाएं।
कुछ सेकंड के लिए इस घोल के साथ कुल्ला करें।

मुंह के छाले --------

मुंह के छाले जो मुंह के अंदर श्लेष्मा झिल्ली पर एक अल्सर होता है जिससे जलन, दर्द, सूजन, बुखार हो सकता है। इसमें हालत बहुत दर्दनाक और साथ ही बहुत परेशान होती है, लेकिन आप टेबल नमक के साथ इस समस्या से राहत प्राप्त कर सकते हैं। दर्द को कम करने और मुंह के छालो के उपचार की प्रक्रिया को तेज करने के लिए नमक के पानी के साथ कुल्ला करने से मदद मिलेगी।
एक चौथाई कप गर्म पानी में 2 चम्मच नमक के मिलाएं और अच्छी तरह से हिलाएं।
कम से कम 20 सेकंड के लिए अपने मुँह में चारों ओर इस घोल को घुमाएं और फिर उसे कुल्ला कर ले।
इस प्रक्रिया को दिन में 3 या 4 बार दोहराएं।

पाँव का दर्द दुुर करने के लिए ---------

पैरों में दर्द होने पर चलना मुश्किल हो जाता है, लोग इस तरह के दर्द से जल्दी से जल्दी छुटकारा पाना चाहते हैं। अगर आपके पैरो की उंगलियों, एड़ी, टखने में दर्द हो रहा है तो आप नमक के साथ इस प्रकार के दर्द को कम कर सकते हैं। साल्ट थके हुए पैरों को भी शांत करने मदद करता है। आधा कप नमक गर्म पानी के एक छोटे से टब में मिलाएं।10 से 15 मिनट के लिए गर्म नमकीन घोल में अपने पैर डुबो कर रखें।अपने पैरों को सुखाएँ और 5 मिनट के लिए धीरे अपने पैरो की मालिश करें।यह दिन में एक बार जरूर करें।

दांतों को साफ और चमकदार बनाने के लिए:----

नमक से एक बहुत अच्छा टूथपेस्ट का विकल्प है, जो आप अपने दांतों को साफ और बैक्टीरिया से मुक्त रखने के लिए उपयोग कर सकते हैं। नमक में मौजूद कण आपको दाँतों के प्लार्क से छुटकारा पाने में मदद करते हैं। वास्तव में, टेबल नमक ओरल केयर उत्पादों में सबसे अधिक रूप से इस्तेमाल की जाने वाली सामग्री में से एक है।
अपने टूथब्रश को टेबल नमक या समुद्री नमक में डुबोएँ और फिर उसके साथ अपने दाँत ब्रश करें।
यह दिन में कम से कम एक बार करें। इसके अलावा आप इसमें बेकिंग सोडा की बराबर मात्रा मिलाकर भी ब्रश कर सकते हैं।

आँखों की सूजन दूर करने के लिए------

सूजी या फूली हुई आँखों को ठीक करने के लिए भी आप नमक और गर्म पानी का उपयोग कर सकते हैं। नमक से त्वचा को कसने में मदद मिलेगी और वहीं गर्म पानी की गर्मी से सूजन कम हो जाएगी।
एक कटोरी गुनगुने पानी में आधा चम्मच नमक मिक्स करें।
इस गर्म नमकीन पानी में रूई के फाहें को डुबोएँ ।अपनी आँखें बंद करके अपनी पलकों के ऊपर कुछ मिनट के लिए रखें।

इन्सेक्ट बाइट्स से छुटकारा:----

कीट दंश दर्दनाक और खुजलीभरा हो सकता है। ये असुविधाएँ कम करने के लिए, आपको बस नमक की एक मुट्ठी की जरूरत है।
मधुमक्खी या पीले रंग की जैकेट डंक के जहर को बेअसर करने के लिए नमक एक शानदार तरीका है। इसके एंटीसेप्टिक गुणों के कारण यह तुरंत विष को बाहर खींचता है और प्रभावी रूप से दर्द और सूजन को कम करता है।
एंटीसेप्टिक साबुन और गुनगुने पानी के साथ प्रभावित क्षेत्र को धो लें। एक मधुमक्खी या ततैया डंक के मामले में, धोने से पहले बहुत ध्यान से दंश को हटा दें।
काटने या डंक की जगह पर नमक का पेस्ट लगाएँ।इस सूखने दें और 30 मिनट के बाद अच्छी तरह से धो लें।
जरूरत के अनुसार दिन में दो तीन बार प्रयोग करे।

बंद नाक खोलने का उपाय :-----

किसी भी उम्र के लिए, नमक बह रही नाक के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपचारो में से एक है। साल्ट बलगम ढीला करने में मदद करेगा जिससे यह और अधिक आसानी से निष्कासित हो सकेगा। यह नासिका मार्ग को साफ करने और आपको आराम से साँस लेने में मदद करेगा। 
2 कप गर्म पानी में 1 चम्मच नमक डालकर मिश्रण तैयार करें।
एक नेति पॉट या अन्य नाक बहाने वाले डिवाइस का उपयोग करके इस समाधान का प्रयोग करें। सबसे पहले आपको जल नेती प्रक्रिया को सीखना होगा तभी यह करना आपके लिए संभव होगा । बिना अभ्यास के आप जलनेति नहीं कर सकते, अगर आपको साइनस की प्रॉब्लम है तो यह समस्या भी जल नीति के द्वारा बहुत जल्दी ठीक हो जाती हैं। यह मेरा खुद का निजी अनुभव है। इसके लिये आपको सिर्फ सेंधा नमक युज कर सकते है।

अंडे को जल्दी उबालने के लिए:---

जब आप पानी में अंडे उबाल रहें है तब अंडे को जल्दी पकाने के लिए उबलते पानी में पहले थोड़ा सा नमक डाल दें। साथ ही, यह अधिक तेजी से अंडे के सफेद भाग की दरारें रोकता है।

चांदी धोने के लिए :-----

टेबल नमक चांदी के बर्तन से धूल हटाने में भी मदद कर सकता है। यह धूल दूर करने के लिए आवश्यक रासायनिक प्रतिक्रिया में तेजी लाने में मदद करता है। साथ ही, यह चांदी धोने के लिए एक महान प्राकृतिक घर्षण के रूप में काम करता है।
एक बड़ी रोस्टिंग पैन लें।पैन में गर्म पानी डालें।2 बड़े चम्मच टेबल नमक और 2 बड़े चम्मच बेकिंग सोडा को उसमें मिलाएँ ।आप 1 चम्मच सफेद सिरका भी मिला सकते हैं। 3 से 5 मिनट के लिए इस घोल में अपने धूमिल चांदी के बर्तन डुबोकर रखें। भारी चांदी के बर्तन के लिए, आप एक पुराने टूथब्रश के साथ चांदी के बर्तन साफ़ कर सकते हैं।अंत में, गर्म साबुन वाले पानी से धो लें। इस प्रकार आप घर पर अपने चाँदी के सामान को चमका सकते हो।

चेहरे के लिए -----

नमक आमतौर से हमारे खाने में इस्तेमाल होता है। पर क्या आप जानते हैं कि नमक केवल हमारे भोजन के लिए ही नहीं परंतु हमारी त्वचा और चेहरे के लिए भी बहुत उपयोगी है। आधा चम्मच शहद में दो चम्मच नमक मिलाकर अपने चेहरे पर लगा लें। कुछ देर रखकर इसे साफ कर लें। अगर हफ्ते में कम से कम दो बार ऐसा करेंगे तो धीरे धीरे चेहरे से टैनिंग की समस्या दूर हो जाएगी।
दाग धब्बे दुर करने के लिए:----
एक चम्मच नमक में एक चम्मच नींबू का रस मिलाकर चेहरे पर लगाएँ और थोड़ी ही देर में इसे धो लें। ध्यान रखें इसे बहुत देर चेहरे पर ना लगा रहने दें क्योंकि इससे त्वचा बहुत रूखी हो सकती है। इस प्रयोग को करने से आपके चेहरे पर जो भी पिंपल्स के निशान हैं, कुछ ही दिनों में मिट जाएँगे।

टोनर के रूप में इस्तेमाल:-------
नमक एक बेहतरीन टोनर है। यह आपकी त्वचा से अतिरिक्त तेल निकालकर आपकी त्वचा को अंदर तक साफ करता है। इसके लिए आप एक कप पानी में एक चम्मच नमक मिलाएँ और इसे एक स्प्रे बोतल में भर लें। इसे आप अपनी सूखी त्वचा पर स्प्रे करें। इस बात का ध्यान रखें कि आप अपनी आँखों को बचा कर रखे स्प्रे करने से पहले ।

पैरों की थकान दुर करने के लिए:----
नमक खाने के स्वाद के साथ हमारे स्वास्थ्य के लिए भी बहुत जरूरी है। कई बार हम बहुत ज्यादा चलने के बाद जब हमारे पैर थक जाते हैं और टांगों और पैरों में दर्द होता है। इससे बचने के लिए एक बाल्टी में गर्म पानी करें और उसमें एक बड़ा चम्मच नमक को मिला लें और 15 या 20 मिनट तक अपनी टांगों और पैरों को डुबोकर बैठ जाएं, ऐसा करने से आपकी थकान और दर्द दूर हो जाएगा ,और आपको रात को बहुत अच्छी नींद आएगी।

Last alfaaz:-------
आज हमने आपको नमक के फायदे और नुकसान शेयर किए हैं । अगर आपको यह फिटनेस मंत्र अच्छा लगा हो तो आप अपने चाहने वालों दोस्तों को जरुर शेयर करें।
 







एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ